Scout My Planet

Tag

Holi bal

अलगदा के उमर(algada)

अलगदा के उमर की ओर अलख नदी के कीट मारक भार से प्रभुकपा से फुटकारा–दिद। के होते ही में अपनी यात्रा पर चल पा और पर्वतों के मन में से होता हुआ अतखनन्दा नदी के तट पर जा पाया। मः।… Continue Reading →

होली नल(holi bal)part5

पता-जवाहर बुक डिपो ( १२ ) भारतीय प्रेस, मेरठ हमें देओ दिखाई, तुम जादूगरनी नार ॥२॥ नहीं हरगिज तुम्हें बरेंगे, थारी राजी नहीं करेंगे। सिर फोड़ मरेंगे, मत करो हम पर प्यार ॥३॥ हमें लाई जहां से ठाकर,वहां अवो तुम… Continue Reading →

होली नल(holi bal)part4

पता-जवाहर बुक डिपो ( १० ) भारतीय प्रेस, मेरठ। दिन छिप गया हुआ अंधेरा, दे दिया नदी पर डेरा । रजनी को करें बसेरा, तड़के चलें खब ससतायके । दोहा-खान पान कर सो गये, छत्री पांव पसार । पहर पर… Continue Reading →

होली नल(holi bal)part3

पता-जवाहर बुक डिपो (=, घोड़ा शुतर रथ पालकी. घुड़साल गज मस्तान थे। हथियार और राशन भरे छकड़ों में सब सामान थे I नल के दलों में जिस घड़ी बाजा बिगुल झड़ लायकर। कायर भजे तज नौकरी शूरा सजे हरपाय कर… Continue Reading →

होली नल(holi bal)part2

पता-जवाहर बुक डिपो ( ४ ) भारतीय प्रेस, मेरठ लावणी-ब्राह्मण नाई बैठे देखे, नल ने घोड़ा ठहराया। कूद पड़ा घोड़े से छत्री नागिन के धीरे आया ॥ झलना-जब नलने वचन सुनाये, कहो कौन दिशा से आये। तुम भूखे और पिसाये,… Continue Reading →

होली नल(holi bal)

होली नल पुराण नवां भाग किशनलाल का ब्याह संकलदीप की लड़ाई चौ० चंदन सिंह पीपल के निवासी कृत ईश्वर प्रार्थना दोहा-अजर अमर सुख मूल जग पालक जग भूप । सहस्त्र जबां से शेष को कह नहीं सकते रूप ॥ ख्याल-कथ… Continue Reading →

© 2020 Scout My Planet

All Rights ReservedUp ↑